Kauravas and Pandavas Competition in Rangbhumi in hindi

Kauravas and Pandavas Competition in Rangbhumi in hindi कौरव और पांडव की रंगभूमि में प्रतियोगिता       कौरव और पांडवों की शिक्षा पूरी होने के बाद गुरु द्रोणाचार्य जी ने कृपाचार्य, सोमदत्त, बाह्रीक, भीष्‍म, महर्षि व्‍यास तथा विदुरजी के पास राजा धृतराष्ट्र से कहा- ‘राजन्! आपके कुमार अस्त्र-विद्या की शिक्षा प्राप्त कर चुके हैं। यदि […]

Continue reading