Kedarnath Temple Miracle Story in hindi

Kedarnath Temple Miracle Story in hindi 

केदारनाथ मंदिर के चमत्कार की कहानी/कथा

Kedarnath Mandir ka Chamatkar 

 

16 जून 2013 को केदारनाथ में भयंकर बाढ़ आई। सब कुछ तहस नहस हो गया था। लेकिन केदारनाथ मंदिर(kedarnath mandir) को खरोंच भी नहीं आई थी।
20 मई से 28 मई 2017 में मोरारी बापू द्वारा राम कथा केदारनाथ धाम में की गई। जिस पर बापू ने मानस शंकर विषय को चुना। मोरारी बापू मानस शंकर को केंद्र में रखकर कथा कह रहे थे- इसी में उन्होंने एक अद्भुत कथा सुनाई–

 

मोरारी बापू (Morari bapu) कथा में बता रहे हैं–

मुझे कल यहाँ के प्रभारी ..बद्रीनाथ और केदारनाथ के ..जो यहीं निवास करते हैं ..मिले। वो मुझे कहे की बापू जो उत्तराखंड का हादसा यहाँ हुआ और उसने तो 1 अंक भी बताया की बापू हजारों लोग ..पक्की गिनती भी नहीं ..

जब सुलभ हुआ कि अब पहुँचा जाये तब मेरा अनुभव कहूँ की 1 आदमी केदार की चट्टान पर बैठा था यहाँ के पीले फूल जो होते हैं ना ..वो लिये हुए बैठा था ..और ये साहब कहते हैं मैने पूछा where are you coming from ? वो विदेशी था ..आप कहाँ से हैं ?

वो बोला मैं Israel से हूँ।

ऐसी विषम परिस्थिती में आप Israel से यहाँ क्यूँ आये ?

बोले मैं जवाब बाद में दूँगा ..पहले मुझे 2 घंटे अंदर जाने दोगे? और वो आदमी वो फूल लेकर केदार के त्रिकोण शिवलिंग के पास बैठा ..कहते हैं 2 घंटे तक रहा ..फिर बाहर आया ..उसको कोई पूजा पाठ नहीं आता था ..ना अक्रीय ध्यान ..ना राम नाम ..ना रुद्राष्टक ..कुछ नहीं ..वो बाहर आया ..उसकी आँख में आँसू थे।

 

 

पूछा गया आप Israel से यहाँ क्यूँ आये ? ..बोले हमने T.V पर ..media में ..हर जगह उत्तराखंड का जो विनाशकारी ..ये जो भयंकर हादसा पढा था ..मैने पढा था की वहाँ शिव मंदिर और शिव को कुछ नहीं हुआ था ..मुझे लगा की ये क्या है ? इतने हादसे में मंदिर नहीं टिक सकता ..कोई भी पत्थर उखड सकता है ..ये हिन्दुस्तान क्या है? ये कौनसा चमत्कार? मैं Israeli हूँ ..मैं चमत्कार में माननेवाला नहीं लेकिन ये देखने के लिये मैं आया हूँ की ये क्या मंदिर है? ये क्या शिव है ? ये कौनसा तत्व है ?

बापू के शब्द
मानस शंकर
जय सियाराम बाप

मोरारी बापू के शब्दों का ब्लॉग मेरी प्यारी दीदी रूपा खांट (rupa khant) द्वारा लिखा गया है।

 

Read : केदारनाथ की कथा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.