Ram Navami Story(Katha) in hindi

Ram Navami Story(Katha) in hindi

राम नवमी कहानी(कथा)

रामनवमी क्या है?Ram Navmi Kya hai? राम नवमी क्यों मनाई जाती है? Ram Navmi Kyo Manai Jati hai

इन सबका जवाब आपको यहाँ मिलेगा। सबसे पहले आप सबको जय श्री राम। अगर कोई भी काम शुरू करने से पहले हम भगवान का नाम ले लें तो काम जरूर सफल होता है। कोई भी भगवान जो भी आपके इष्ट हों आप उनका नाम ले सकते हैं।

रामनवमी को भगवान श्री राम का जन्म हुआ था। श्री राम का जन्म चैत्र शुक्ल पक्ष की नवमी और अभिजित मुहर्त में हुआ था। श्री तुलसीदास कृत रामचरितमानस में आया है –

नवमी तिथि मधुमास पुनीता, सुकल पच्छ अभिजित हरिप्रीता।
मध्य दिवस अति सीत न घामा, पावन काल लोक बिश्रामा॥

पवित्र चैत्र का महीना था, नवमी तिथि थी। शुक्ल पक्ष और भगवान का प्रिय अभिजित्‌ मुहूर्त था। दोपहर का समय था। न बहुत सर्दी थी, न धूप (गरमी) थी। वह पवित्र समय सब लोकों को शांति देने वाला था।

उसी समय दोपहर 12 बजे समस्त लोकों को शांति देने वाले, भगवान श्री राम प्रकट हुए।

बोलिये राम चंद्र लला की जय !! भगवान श्री राम चंद्र जी की जय !!

भगवान श्री राम ने जन्म क्यों लिया? इसके पीछे भी अनेक कारण थे। आप नीचे दिए गए ब्लू लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं। ऐसा क्या हुआ कि भगवान विष्णु को राम रूप में अवतार लेना पड़ा।

Read : राम जन्म के कारण

 

श्री राम जन्म का महोत्सव हर जगह बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। क्योंकि जब एक संसार का बालक धरती पर जन्म लेता है तो कितनी ख़ुशी होती है लेकिन जब खुद भगवान धरती पर अवतरित होते हैं तो धरती भी धन्य होती है, भक्त भी धन्य हो जाते हैं। भगवान श्री राम के जन्म महोत्सव कि कथा नीचे दी जा रही है। आप ब्लू लिंक पर क्लिक करके पूरी कथा का आनंद लीजिये। किस तरह से माता कौसल्या ने ख़ुशी मनाई, किस तरह से देवताओं ने अपनी ख़ुशी जाहिर की।

Read : राम जन्म की पूरी कहानी और राम जन्म महोत्सव

 

श्री राम भगवान का दर्शन करने के लिए भगवान शिव भी एक बाबाजी , ज्योतिषी का रूप बनाकर गए थे। वो भी एक अद्भुत कथा है। भोले नाथ राम जी शिशु से मिलना चाहते हैं। उनका दर्शन करना चाहते हैं। लेकिन कोई उन्हें महल में जाने नही देता है। फिर किस तरह से भोले नाथ ने अंदर महल में प्रवेश पाया। आप ये कथा भी नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं। क्योंकि ये वाली कथा वो ही पढ़ सकता है जिसपर भगवान की अति कृपा होती है।

Read : भगवान शिव का राम जन्मोत्सव में जाना

 

मेरी भगवान राम से यही प्रार्थना है। सब पर अपनी कृपा बनाये रखें। सबको अपनी कथा से मनोहर रूप से, सबका जीवन धन धान्य करके कृतार्थ करें।

जय श्री राम !! जय श्री राम !! जय श्री राम !!

Read  : श्री राम नाम की महिमा

Read : श्री कृष्ण भगवान की बाल लीला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.