Hanuman Chalisa Benefits in hindi

Hanuman Chalisa Benefits in hindi

हनुमान चालीसा के लाभ 

आप सभी राम भक्त , हनुमान भक्त श्री हनुमान चालीसा का पाठ करते होंगे। आप सबके मन में होगा की हनुमान चालीसा के फायदे(hanuman chalisa ke fayde) क्या हैं? हनुमान चालीसा के लाभ(hanuman chalisa ke labh) क्या हैं। तो बंधुओं हनुमान चालीसा के अनंत लाभ(labh) और फायदे(fayde) हैं। जिसने हनुमान जी को ह्रदय से याद किया उसे राम जी भी मिल गए। आइये पढ़िए – 

 

  1. सबसे पहले दोहे में गुरु को प्रणाम हो जाता है। और कोई भी काम शुरू करने से पहले गुरुदेव के चरणों में ह्रदय से प्रणाम हो जाये तो हर काम अच्छे से पूरा हो जाता है।

 

  1. हनुमान जी शारीरिक बल और बुद्धि प्रदान करते हैं।

 

  1. हनुमान जी की वंदना हो जाती है।

 

  1. हनुमान जी के सुंदर रूप का ध्यान हो जाता है। जिसमे उन्होंने सुंदर कुण्डल धारण किये हुए हैं और घुंघराले बाल हैं। हाथ में ध्वजा और बज्र हैं। कंधे पर जनेऊ है।

 

  1. हनुमान जी की प्रशंसा भगवान श्री राम ने की है। जब कोई दुनिया का व्यक्ति किसी की प्रशंसा करता है तो हमे कितनी ख़ुशी मिलती है। जरा सोचिये जिसकी प्रशंसा खुद भगवान श्री राम कर रहे हैं। तो उन हनुमान जी की हनुमान चालीसा पढ़ने से कितना लाभ मिलेगा।

 

  1. बिना हनुमान जी की कृपा के राम जी का मिलना बहुत मुश्किल है। तुलसीदास जी को भी हनुमान जी ने ही रामजी के दर्शन करवाये थे।

 

  1. श्री हनुमान जी गर्जना से तीनों लोक काँप जाते हैं।

 

  1. जहाँ कहीं भी हनुमान जी का नाम गया जाता है वहां पर बहुत पिशाच निकट तक नही आ सकते हैं।

 

  1. हनुमान जी का नाम लेने से सब रोग मिट जाते हैं और सारी दुःख पीड़ा दूर हो जाती है।

 

  1. भगवान हनुमानजी का जो भी मन, क्रम और वचन से नाम लेता है ध्यान करता है। हनुमानजी उन्हें सब संकट से मुक्ति प्रदान करते हैं।

 

  1. यहाँ तक कहा गया है जो हनुमान जी का नाम लेता है और जिस पर हनुमान जी की कृपा हो जाती है तो उसे जिस चीज की कामना होती है वो पूरी हो जाती है। साथ में हनुमान जी ऐसा फल दे देते हैं जिसके बारे में वो सोच भी नही सकता है। जिसकी कोई सीमा नही हो सकती है।

 

  1. हनुमान जी सज्जन पुरुषों की रक्षा करते हैं और दुष्टों का नाश करते हैं।

 

  1. जो भी भक्त हनुमान जी का भजन करते हैं उन्हें भगवान राम जी की प्राप्ति होती है। वाह! अद्भुत मन्त्र है ये जीवन में याद कर लेना। जिन्होंने हनुमानजी का नाम ह्रदय से ले लिया उन्हें रामजी भी खुद मिल जाएंगे।

 

  1. और अंत समय आने पर मौत से डरने या घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि जिन्होंने हनुमान जी को याद किया है वो तो श्री राम जी के धाम का पात्र बन गया है। वो रामजी के धाम को जायेगा। यदि दोबारा पृथ्वी पर जन्म भी लेना पड़ा तो भी हनुमानजी उसकी रक्षा करेंगे और वो भक्त रूप में ही जन्म लेगा। भगवान राम के भक्त कहलायेंगे।

 

  1. हनुमान जी की सेवा करने के बाद सभी प्रकार के सुख मिल जाते हैं और कहीं भी जाने की जरुरत नही होती है।

 

  1. जो कोई भी हनुमान चालीसा का सौ बार पाठ करेगा वह भव बंधन से मुक्त हो जायेगा। और उसे परमानन्द यानि भगवान राम जी मिलेंगे।

 

  1. ये हनुमान चालीसा भगवान शिव ने लिखवाई है। इसलिए वे खुद इस बात के साक्षी है जो भी इस हनुमान चालीसा का पाठ करेगा उसे अवश्य ही सफलता मिलेगी।

 

  1. हनुमान जी से यही प्रार्थना करना आप गुरु की भांति हम पर कृपा कीजिये। आपकी सदा ही जय हो। आप संकट मोचन हो। और आप भगवान श्री राम, सीता जी और लक्ष्मण जी के साथ मेरे ह्रदय में निवास कीजिये।

बोलिए हनुमान जी महाराज की जय !!

Read : हनुमान चालीसा अर्थ सहित  

Read : तुलसीदास द्वारा राम नाम महिमा 

6 thoughts on “Hanuman Chalisa Benefits in hindi

    • Jai Shri Ram
      Bhai aap Bhagwan par shardha or vishwash banaye rakhiye.. or is vishwas to tutne mat dena.. aapko jarur naukri milegi..

  1. हनुमान जी का दर्शन कैसे होगा
    विधि बताएं कृपया

    • हनुमान जी का दर्शन हो जाये ये आपका हेतु है, और किसी भी हेतु के लिए किया गया प्रयास, कहीं सिर्फ श्रम बनकर न रह जाये, इस बात से सावधान रहें।
      इससे अच्छा जो सहज प्राप्त हो जाये, बिना विधि.. बिना श्रम… बिना परिश्रम. उसका स्वाद निराला होगा और जिसका स्वाद निराला हो उसको ही तो प्रसाद कहते हैं ना!

      और हाँ प्रसाद केवल और केवल कृपा से ही मिलेगा। आज के युग में ये अपेक्षा करना कि मैं ये…. ये विधि करूँगा तो हनुमानजी मेरे सामने प्रकट हो जायेंगे.. ये खुद के लिए मन को बहलाने की बातें हैं।

      हनुमानजी का दर्शन करने के लिए तत्व को समझना बहुत जरुरी है।
      हनुमानजी क्या हैं?
      पवन तत्व है। जिसको किसी चीज का भेद नहीं है। ना देश का, ना छोटे बड़े का.. कोई भेद नहीं। Hanumanji ke darshan karne ke liye hanumant
      तो जहाँ ऐसा कोई इंसान ही.. ऐसा विचार हो.. ऐसी वाणी हो… ऐसा वर्तन हो.. जहाँ समानता हो.. जहा भेद ना हो.. वहाँ हनुमानजी का दर्शन करो।
      हनुमानजी को साक्षात् देखने की अंधी दौड़ में मत खोना खुद को… अगर तुम खुद परोपकार का कुछ काम करते हो.. मुख में राम नाम लेकर.. तो तुम खुद में भी हनुमान का दर्शन करो।
      मैंने इतना सब लिख दिया है…. लेकिन अगर तुमको ये विचार रास ना आता हो.. अगर तुमको कोई विधि ही करनी है तो हनुमान जी को पाने की 1 विधि है और वो है केवल राम नाम।
      उठते बैठते सोते जागते.. जैसे चाहो वैसे.. जब चाहो वैसे.. बस राम बोलो.. और मेरा हनुमान दौड़ा आएगा ढूढ़ने हुए कि किसने मेरे प्रभु का नाम लिया और तुम्हारी पात्रता हो तो कर लेना दर्शन वो जब आये तब।
      शब्द : रूपा खांट

      अंत में एक बात कहूँगा कि विधि आप जरूर करो, नाम आप जरूर लो, पूरा आप जरूर करो.. उसका फल जरूर मिलेगा लेकिन केवल क्रिया से नहीं, वो प्रेम से मिलता है। आपके ह्रदय में भगवान के लिए कितना प्रेम है। जैसे एक बालक माँ को पुकारता है, भूखा होता है तब रोता है और माँ दौड़ी दौड़ी आती है, ऐसे ही जब हमारे प्रेम में वो करुण पुकार होगी तब वो आएंगे। उनको आना ही पड़ेगा।

      जय सियाराम

  2. हनुमानजी का दर्शन हो, इसकी अभिलाषा हम रख सकते हैं।
    लेकिन क्या आप हनुमानजी को दर्षन के लिये कष्ट क्यों देना चाहते हैं।
    बाबा का जब मन होगा वो वैसे भी आपको मिलेंगे।
    बाबा के दर्शन से अच्छा तो उनकी भक्ती पर ध्यान दें।

Leave a Reply to Sushmakar Prakash Pathak Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.