Ghatothkach Vadh/Death mahabharat story in hindi

Ghatothkach Vadh/Death Mahabharat story in hindi घटोत्कच वध/मृत्यु महाभारत की कथा/कहानी   14वें दिन का युद्ध अन्य दिनों के युद्ध से अलग था। अर्जुन ने जयद्रथ वध की प्रतिज्ञा ली थी। युद्ध के नियम तो पहले भी तोड़े गए लेकिन आज जयद्रथ के वध के बाद भी सूरज डूबा किन्तु युद्ध की समाप्ति का शंख […]

Continue reading


Bhagwan aur bhakt/ Fakir aur Khuda Story in hindi

Bhagwan aur bhakt/ Fakir aur Khuda Story in hindi भगवान और भक्त/फ़क़ीर और खुदा की कहानी/कथा   दोस्तों भगवान और अल्लाह/खुदा एक ही हैं। हिन्दू जिन्हें भगवान कहते हैं और मुस्लिम जिन्हें अल्लाह कहते है। नाम भेद है तत्वतः तत्व तो एक ही है। वही परमात्मा सबके अंदर है। मोरारी बापू द्वारा कथा में फ़क़ीर […]

Continue reading


Mohammad Paigambar Story in hindi

Mohammad Paigambar Story in hindi मोहम्मद पैगंबर साहब की कहानी मोरारी बापू ने मानस विभीषण राम कथा में मोहम्मद पैगंबर साहब के जीवन की 2 घटनाओं का वर्णन किया। मोरारी बापू कहते हैं कि   Mohammad Paigambar Story 1 in hindi : मोहम्मद पैगंबर की कहानी 1 तू निशान ए बेनिशान है ….तू बहारे शर्मदी […]

Continue reading


Akbar – Birbal ki Khichdi Story in hindi

Akbar – Birbal ki Khichdi Story in hindi  अकबर – बीरबल की खिचड़ी कहानी एक बार की बात है। सर्दियों के दिन थे और बड़ी सर्द रात थी। सम्राट अकबर और बीरबल नदी किनारे घूम रहे थे। अकबर बीरबल से कहते हैं कि बीरबल! बहुत ही ज्यादा ठण्ड है और इतनी ठण्ड में पूरी रात क्या […]

Continue reading


Mahabharat : Guru Dronacharya Vadh Story in hindi

Complete Shrimad Bhagavad Gita in hindi

Mahabharat : Guru Dronacharya Vadh Story in hindi महाभारत : गुरु द्रोणाचार्य वध की कहानी/कथा चौदहवें दिन के युद्ध में गुरु द्रोण द्रुपद और विराट को मार देते हैं जबकि अर्जुन जयद्रथ का वध कर देता है। अगले दिन का युद्ध प्रारम्भ हुआ। पन्द्रवें दिन के युद्ध में गुरु द्रोणाचार्य अपने तेवर में थे और पांडव […]

Continue reading


Ramkrishna Paramhans Story in hindi

Ramkrishna Paramhans Story in hindi रामकृष्ण परमहंस की कहानी/प्रसंग   1 बार राम कृष्ण परम हंस(Ramkrishna Paramhansa) दक्षिनेश्वर में गंगा के तट पर बैठे थे। जब वो आ रहे थे तो कई साधक लोग ….वो ठाकुर को देखकर एकदम स्तंभित से रह गये …कुछ बोल नहीं पाये।   रामकृष्ण ठाकुर जी ने पूछा – क्या […]

Continue reading