Matru Devo Bhava Pitru Devo Bhava Acharya Devo Bhava

Matru Devo Bhava Pitru Devo Bhava Acharya Devo Bhava मातृ देवो भव पितृ देवो भव आचार्य देवो भव अतिथी देवो भव   उपनिषद में 4 वस्तु हैं। मातृ देवो भव(Matru Devo Bhava), पितृ देवो भव(Pitru Devo Bhava), आचार्य देवो भव(Acharya Devo Bhava), अतिथी देवो भव(Atithi Devo Bhava)   मातृ देवो भव : Matru Devo Bhava अध्यात्मिक […]

Continue reading


Ramayan : Jatayu and Kak Bhusundi in hindi

Ramayan : Jatayu and Kak Bhusundi in hindi रामायण : जटायु और काकभुसुंडि   मानस में 2 पक्षी ऐसे मिलेंगे 1 जटायू और दूसरे काकभुसुंडी …….फर्क इतना ही है कि भगवान जटायू के पास गये और उनको कहा कि मैं तुम्हें अमर कर दूँ और तब वो बोले कि मुझे जीना नहीं है। और काक […]

Continue reading


Lord Krishna and Karna Mahabharat samvad in hindi

krishna shanti doot virat roop

Lord Krishna and Karna Mahabharat samvad in hindi भगवान श्री कृष्ण और कर्ण का महाभारत का संवाद  यह संवाद मोरारी बापू द्वारा मानस शहीद राम कथा सूरत में मोरारी बापू द्वारा कहा गया है, आइये उन्हीं के शब्दों में श्रवण करें – युद्ध का नियम तो ये था बाप कि 1 रथी होता है, उसके […]

Continue reading


Morari Bapu Ka Sutra : Manas Shahid

Morari Bapu Ka Sutra : Manas Shahid मोरारी बापू का सूत्र : मानस शहीद   वंदनीय लाल बहादुर शास्त्रीजी ने हम सबको 1 सूत्र दिया था ….जय जवान …जय किसान। इसमें फिर 1 और सूत्र आया  – जय विज्ञान …..डाक्टर कलाम साहब  और आदर्णीय अटल बिहारी वाजपयी साहब उन्होंने ये सूत्र दिया। इस देश का […]

Continue reading


Yamraj or Dharamraj kaun hai?

Yamraj or Dharamraj kaun hai? यमराज और धर्मराज कौन है? who is Yamraj or Dharamraj in hindi  मोरारी बापू से ने राम कथा मानस मसान(स्मशान) में कहा बताया कि यमराज और धर्मराज अलग-अलग दो नहीं हैं, दोनों एक ही है। आइये उन्हीं के शब्दों में सुनते हैं – मोरारी बापू कहते हैं कि   स्मशान […]

Continue reading


Kya ek Beti Pita/Father ka antim sanskar kar sakti hai?

Kya ek Beti Pita/Father ka antim sanskar kar sakti hai? क्या एक बेटी पिता का अंतिम संस्कार कर सकती है? समाज की परम्परा है कि एक पुत्र ही अपने पिता का अंतिम संस्कार करे। लेकिन समय-समय की बात है। एक समय सती प्रथा, पर्दा प्रथा को ठीक माना जाता था। लेकिन समय के अनुसार सब […]

Continue reading