Radha Ashtami: Radha Rani birth story in hindi

Radha Ashtami: Radha Rani birth story in hindi राधा अष्टमी: राधा रानी की जन्म कथा  भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी(ashtami)  को श्रीकृष्ण की बाल सहचरी, जगजननी भगवती शक्ति राधाजी(Radhaji) का जन्म हुआ। श्री कृष्ण जन्माष्टमी(krishna janmashtami) के पन्द्रह दिन बाद अष्टमी को ही राधा जी का जन्मदिन(janamdin) मनाया जाता हैं। हमारी प्यारी श्री राधा […]

Continue reading


Radha Rani Devotee(bhagat) Gulab Sakhi

Radha Rani Devotee(bhagat) Gulab Sakhi story राधा रानी भक्त गुलाब सखी की कहानी  बरसाने में प्रेम सरोवर के मार्ग पर एक समाधी बनी हुई है। जिसे सब गुलाब सखी(Gulab Sakhi) के चबूतरे(chabutra) नाम से जानते है। जिस भक्त का नाम था गुलाब(Gulab)। गुलाब एक गरीब मुस्लमान था। राधा रानी सब पर कृपा करती है। ये बरसाने में श्री […]

Continue reading


Shri Radha Rani naam Mahima in hindi

Shri Radha Rani naam Mahima in hindi श्री राधा रानी के नाम की महिमा  श्री राधा रानी(Radha Rani) के नाम की महिमा(mahima) अनंत है। श्री राधा(radha) नाम को कोई मन्त्र नही है ये स्वयं में ही महा मन्त्र(maha mantra) है। श्री राधारानी(radha rani) के नाम का इतना प्रभाव की सभी देवता और यहाँ तक की भगवान […]

Continue reading


Radha Rani Ka Chamatkar

Radha Rani Ka Chamatkar  A Story of Baba Bithaldas, A true devotee. Radha Rani ki kirpa भगवान से एक बार सम्बन्ध जोड़ लेने के बाद, भगवान भी उस सम्बन्ध तो पुरे दिल से निभाते है । यह एकदम सच्ची बात है । आप चाहे राम जी को देखिये या सबरी को, कृष्ण को देखिये या अर्जुन […]

Continue reading


who is the best in Goddess?

Who is the best in Goddess?   एक समय सनक-सनन्दन आदि ब्रह्मा जी के पास स्तुति करते हुए गए और पूछा कि सर्वप्रधान देवता कौन हैं और उनकी कौन-कौन सी शक्तियाँ हैं? उन शक्तियों में कौन सी शक्ति सबसे श्रेष्ठ है?  ब्रह्मा जी बोले- ‘‘पुत्रो, मैं तुम्हें अत्यन्त गोपनीय से भी  गोपनीय रहस्य बता रहा हूं, […]

Continue reading


Shri Radha Naamkaran By Narad

  Shri Radha Naamkaran By Narad Story  कृष्ण जन्म के बाद नारद जी ने सोचा कि जब कृष्ण आविर्भूत हुए हैं तो उनकी स्वरूप शक्ति भी ज़रूर आई होंगी। समस्त ब्रज में वे खोजते फिरे। अन्त में वे बरसाना गए। वहाँ भी उन्हें कोई खोज नहीं मिली। अन्त में वे रावल गए। रावल यमुना जी के किनारे […]

Continue reading