Bankey Bihari charan darshan

Bankey Bihari ke Chamatkar All Stories(Kathas)

 Bankey Bihari ke Chamatkar All Stories(Kathas)

बाँके बिहारी के चमत्कार की सभी कहानियां(कथाएं)

 

Yahan par Bankey bihari ke chamatkar ki sabhi kahaniya di gai hai. Bhagwan Shri krishna hi Banke Bihari hai.

यहाँ पर बाँके बिहारी के चमत्कार की सभी कहानियां दी गई हैं। भगवान श्री कृष्ण ही बाँके बिहारी हैं। 

 

बाँके बिहारी भगवान श्री कृष्ण का ही एक नाम है। स्वामी श्री हरिदास जी महाराज, जो संगीत सम्राट तानसेन और बैजू बावरा के गुरु थे।  इन्होंने ही अपनी संगीत साधना के बल पर भगवान श्री कृष्ण और राधा जी को प्रकट किया।  फिर राधा और कृष्ण दोनों एक हो गए व बाँके बिहारी बन गए।  जो श्रीधाम वृन्दावन में रहते हैं। वृन्दावन के बाँके बिहारी कोई पत्थर की मूर्ति नहीं हैं। न ही इसे किस ने बनाया है।  ये तो खुद प्रकट हुए हैं। नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके आप पढ़ सकते हैं की बाँके बिहारी कैसे प्रकट हुए थे।

http://www.hindi-web.com/devotee/swami-shri-haridas-maharaj/

 

बांके बिहारी श्री कृष्ण आज भी वृन्दावन में चमत्कार करते रहते हैं। अपने भक्तों को अपनी कृपा से सराबोर करते रहते हैं। इनकी कृपा की कुछ कथायें यहाँ पर दी जा रही हैं।—

 

कथा 1 – पहली कहानी एक ऐसी लड़की की है जिसकी शादी वृन्दावन में हो जाती है। जो बाँके बिहारी भगवान श्री कृष्ण को अपना देवर मानती है। लेकिन वृन्दावन में शादी होने के बाद भी वो बाँके बिहारी के मंदिर जाकर दर्शन नही कर पाई। और जब उन्होंने बाँके बिहारी को देखा तो चमत्कार हो गया। इस पूरी कथा को पढ़ने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

http://www.hindi-web.com/stories/bankey-bihari-ke-chamatkar-story-1/

 

 

कथा 2 – दूसरी कहानी में एक किसान और महाजन की है। इस कथा में किसान महाजन से ब्याज पर कुछ रुपये उधर लेता है और ब्याज समेत एक एक पैसा चुकता कर देता है। लेकिन महाजन में मन में लोभ आ जाता है। वो किसान पर केस कर देता है। किसान को सच्चा साबित करने के लिए भगवान श्री कृष्ण खुद कोर्ट में गए और किसान के पक्ष में गवाही दी। इतना बड़ा चमत्कार हुआ की सब देखते ही रह गए। इस पूरी कथा को पढ़ने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

http://www.hindi-web.com/stories/bankey-bihari-ke-chamatkar-story-2/

 

 

कथा 3   –  इस कहानी में एक गोस्वामी जी बाँके बिहारी के मंदिर में भगवान के लिए लड्डू रखना भूल गए थे। भगवान कृष्ण ने खुद बाजार गए और लड्डू लिए। इसके बदले इन्होंने लड्डू बनाने वाले को अपने सोने के कंगन भेंट दिए। लेकिन जब सुबह बाँके बिहारी मंदिर का दरवाजा खोल तो जो चमत्कार हुआ उसे सब देखते रह गए। इस पूरी कथा को पढ़ने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

http://www.hindi-web.com/stories/bankey-bihari-ke-chamatkar-story-3/

 

 

 

कथा 4 – इस कहानी में एक व्यक्ति पाकिस्तान से बाँके बिहारी के लिए एक रूहानी इत्र लेके आया था। जिसे स्वामी श्री हरिदास जी महाराज ने मिटटी में डाल दिया। इस व्यक्ति को काफी दुःख हुआ कि इतना महंगा इत्र में बिहारी जी के लिए लेकर आया और इन स्वामीजी ने इसे मिटटी में डाल दिया। जब ये व्यक्ति वापिस जाने लगा तो पहले ये बिहारी जी के मंदिर में गया। मंदिर में जाते हो जो इसने चमत्कार देखा तो बस देखता ही रह गया। इस पूरी कथा को पढ़ने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

http://www.hindi-web.com/stories/bankey-bihari-ke-chamatkar-story-4/

 

 

 

कथा 5 – एक अंग्रेज भक्त हुए हैं “रोनाल्ड निक्सन”। ये भगवान को अपना छोटा भाई मानकर इनकी सेवा करते थे। एक रात ऐसा हुआ कि भगवान श्री कृष्ण बाँके बिहारी ने इन्हें खुद आवाज लगाई। इसके बाद जो चमत्कार हुआ मानो देखते ही रह गए। इस पूरी कथा को पढ़ने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

http://www.hindi-web.com/stories/banke-bihari-ke-chamatkar-story-5/

 

 

 

कथा 6 – ये कथा श्री गौरव कृष्ण गोस्वामी जी है। एक बार बिहारी जी की सेवा में गलती से केसर का इत्र ले गए थे । उस समय गर्मी का मौसम शुरू हो गया था। जिस कारण से बिहारी जी को केसर का इत्र नही लगा सकते थे। केसर का इत्र सिर्फ सर्दियों में ही लगाया जाता है। इसके बाद जो चमत्कार हुआ मनो साक्षात् बिहारी जी ही आ गए हों। इस पूरी कथा को पढ़ने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

http://www.hindi-web.com/stories/bankey-bihari-ke-chamatkar-story-6-gaurav-krishna-goswami-ji/

 

कथा  7श्री बांके बिहारी की इस कथा का वर्णन श्री मृदुल कृष्ण गोस्वामीजी ने गुरुग्राम कथा में किया था। वो बता रहे थे 1957 की एक घटना। कैसे एक परिवार के बच्चों को एक तांगे लेकर के भाग रहा था और उसके बाद जो कुछ हुआ वो आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके पूरी कथा को पढ़िए।
बोलिये श्री बांके बिहारी लाल की जय!! जय जय श्री राधे !!

Bankey Bihari(Shri Krishna) ke Chamatkar Story 7 

 

Read : बाँके बिहारी की आरती 

Read : श्री कृष्ण बाल लीला की कहानी 

 

2 thoughts on “Bankey Bihari ke Chamatkar All Stories(Kathas)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *