Which fast/Vrata should I do in hindi

Which fast/Vrata should I do in hindi

कौन सा व्रत करें? Kaun sa Vrat Kare?

 

हम सब कोई न कोई व्रत करते हैं या फिर करना चाहते हैं। ताकि सुख शांति समृद्धि बनी रहे। लेकिन सिर्फ भूखे रहना ही व्रत नहीं है, याद रखना। वो व्रत है केवल शरीर के लिए। हाँ, व्रत की अपनी महिमा है, जरूर करना चाहिए। लेकिन हमारे संतों ने हमें बहुत कुछ बताया है। ऐसा ही व्रत हम सबके लिए बताया जा रहा है जिससे सुख शांति और समृद्धि निश्चित रूप से आपको प्राप्त होगी।

मोरारी बापू राम कथा में कह रहे हैं कि

मैं 1 व्रत के लिये आग्रह करता हूँ – मौन व्रत। जितना हो सके चुप रहो।

दिल्ली वाले हमारे सराफ साहब का 1 शेर है –

हजारों आफतों से बचे वो रहते हैं ..
जो सुनते हैं ज़्यादा और कम बोलते हैं।

हम बहुत बोल बोल करते हैं।

 

दूसरा 1 व्रत और कहूँ, ये है – मुस्कुराना
कोई कुछ भी कहे मुस्कुराहट कर देना।

मुझे हमारे आदरणीय काशी नरेश कह रहे थे कि बापू, हमारे पिताजी आपकी कथा बहुत सुनते थे।
मैं बहुत अपनी प्रसन्नता व्यक्त करता हूँ कि रोज़ …उसकी उत्तरावस्था में भी उनके bed पर हमको आपकी cassette लगानी पड़ती थी और बोलते थे कि मैं सो गया हूँ तो भी मुझे जगाकर बापू को सुनवाओ और ये बात खास कहते थे परिवार को …कि बापू का 1 गीत तुम खूब गुनगुनाओ और खुद गाते थे..

मुस्कुराते रहो …गुनगुनाते रहो ….
जीवन संगीत है …स्वर सजाते रहो

मोरारी बापू के शब्द
मानस सिया
जय सियाराम

क्या भगवान को पाने के लिए व्रत करना जरुरी है? जानने के लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करके यूट्यूब वीडियो देखें  – 

पढ़ें : व्रत और उपवास वास्तव में क्या है?
पढ़ें : भगवान के नाम की महिमा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *