Mahabharat : Karna 3 curses(shrap) Story in hindi

Mahabharat : Karna 3 curses(shrap) Story in hindi महाभारत : कर्ण को मिले 3 श्राप की कहानी/कथा महाभारत में दानवीर कर्ण का जीवन हमेशा ही दुखों से घिरा रहा है। जन्म से लेकर मृत्यु तक कर्ण के जीवन में दुःख ही दुःख रहे हैं। कर्ण को मिले श्रापों ने कर्ण को झकजोर दिया और अंत […]

Continue reading


Mahabharat Karna Vadh(Death) Story/Katha in hindi

Mahabharat Karna Vadh(Death) Story/Katha in hindi महाभारत कर्ण वध(मृत्यु) की कहानी/कथा महाभारत में कर्ण वध का दृश्य बड़ा ही मार्मिक रहा है। भीष्म पितामह सर शैया पर हैं। गुरु द्रोणाचार्य का वध हो चुका है। कर्ण को कौरव सेना का प्रधान सेनापति बनाया गया है। अगले दिन के युद्ध में दुशासन का भी वध भीम […]

Continue reading


Bhima kills/vadh dushasana mahabharata story in hindi

Bhima kills/vadh dushasana mahabharata story in hindi भीम द्वारा महाभारत युद्ध में दुशासन का वध/मृत्यु   पन्द्रहवें दिन के युद्ध में द्रोणाचार्य का वध कर दिए जाता है। द्रोणाचार्य वध के बाद कर्ण को कौरव सेना का सेनापति बनाया जाता है जिसकी कर्ण काफी समय से प्रतीक्षा कर रहा था। इस दिन के युद्ध भी […]

Continue reading


Ghatothkach Vadh/Death mahabharat story in hindi

Ghatothkach Vadh/Death Mahabharat story in hindi घटोत्कच वध/मृत्यु महाभारत की कथा/कहानी   14वें दिन का युद्ध अन्य दिनों के युद्ध से अलग था। अर्जुन ने जयद्रथ वध की प्रतिज्ञा ली थी। युद्ध के नियम तो पहले भी तोड़े गए लेकिन आज जयद्रथ के वध के बाद भी सूरज डूबा किन्तु युद्ध की समाप्ति का शंख […]

Continue reading


Bankey Bihari(Shri Krishna) ke Chamatkar Story 7 

Bankey Bihari(Shri Krishna) ke Chamatkar Story 7  : बांके बिहारी(श्री कृष्ण) के चमत्कार कथा 7    आचार्य श्री मृदुल कृष्ण गोस्वामी जी के शब्द  (बांके बिहारी के चमत्कार – गुरुग्राम कथा )   एक दिल्ली का ही भक्त परिवार, बिहारी जी को जिसने सुना… बात थोड़ा पुरानी है, घटना थोड़ी पुरानी है। जबसे भागवत की कथा […]

Continue reading


Tyag aur Niyat Karma : Shrimad Bhagwad Geeta

Tyag aur Niyat karma : Shrimad Bhagwad Geeta त्याग और नियत कर्म : श्रीमद भागवत गीता   गीता ने त्याग की 3 श्रेणी बताई – Three category of Tyag in Gita 1. राजस  त्याग 2. सात्विक त्याग 3. तामस त्याग 1. राजस त्याग(Rajsi Tyag) – प्रत्येक कर्म दुख रूप है, प्रत्येक कर्म में श्रम है और काया का क्लेश होता […]

Continue reading


Page 4 of 102« First...23456...102030...Last »