Kya bhagwan hamari Prayer/Pukar Sunta hai ?

Kya bhagwan hamari Prayer/Pukar Sunta hai ?

क्या भगवान हमारी प्रार्थना/पुकार सुनता है?

 

जी हाँ , भगवान हमारी पुकार 100% सुनता है। लेकिन उस पुकार में प्रेम हो, करुणा हो, समर्पण हो और भगवान के लिए भाव हो।

 

हम चाहे लाख बार राम कहे चाहे करोड़ बार, लेकिन यदि एक बार ह्रदय से राम नाम कहा गया तो वो राम नाम लाख बार नाम लेने से कहीं अधिक होगा। क्योकि भगवान आपके मन की जानता है। भगवान को कोई ढोंग और दिखावा पसंद ही नहीं है। मीरा जी जब भगवान कृष्ण के लिए गाती थी तो भगवान बड़े ध्यान से सुनते थे। सूरदास जी जब पद गाते थे तब भी भगवान सुनते थे। और कहाँ तक कहूँ कबीर जी ने तो यहाँ तक कह दिया–

 

चींटी के पग नूपुर बाजे वह भी साहब सुनता है।(chinti ke pag nupur baaje veh bhi sahib sunta hai) एक चींटी कितनी छोटी होती है अगर उसके पैरों में भी घुंघरू बाँध दे तो उसकी आवाज को भी भगवान सुनता है। यदि आपको लगता है की आपकी पुकार भगवान नहीं सुन रहा तो ये आपका वहम है या फिर आपने भगवान के स्वभाव को नहीं जाना।  कभी प्रेम से उनको पुकारो तो सही। कभी उनकी याद में आंसू गिराओ तो सही। मैं तो यहाँ तक कह सकता हूँ की केवल भगवान ही है जो आपकी बात को सुनता है।

 

 

एक छोटी सी कथा आती है। एक भगवान जी के भक्त हुए थे। उन्होंने 20 साल तक लगातार भगवत गीता जी का पाठ किया। अंत में भगवान की आकाशवाणी हुई। अरे भक्त! तू सोचता है की मैं तेरे गीता के पाठ से खुश हूँ। तो ये तेरा वहम है। मैं तेरे पाठ से बिलकुल भी प्रसन्न नही हुआ।

 

 

जैसे ही भक्त ने सुना तो वो नाचने लगा , और झूमने लगा। भगवान ने बोला अरे! मैंने कहा की मैं तेरे पाठ करने से खुश नही हूँ और तू नाच रहा है।

वो भक्त बोला- भगवान जी आप खुश हो या नहीं हो ये बात मैं नही जानता। लेकिन मैं तो इसलिए खुश हूँ की आपने मेरा पाठ कम से कम सुना तो सही। इसलिए मैं नाच रहा हूँ। ये होता है भाव।
थोड़ा सोचिये जब द्रौपती जी ने भगवान कृष्ण को पुकारा तो क्या भगवान ने नहीं सुना?
भगवान ने सुना भी और लाज भी बचाई।

 

जब गजेन्द्र हाथी ने ग्राह से बचने के लिए भगवान को पुकारा तो क्या भगवान ने नहीं सुना?
बिल्कुल सुना और भगवान अपना भोजन छोड़कर आये।

 

कबीरदास , तुलसीदास , सूरदास , हरिदास , मीरा बाई और न जाने कितने संत हुए जो भगवान से बात करते थे और भगवान भी उनकी सुनते थे।

 

इसलिए जब भी भगवान को याद करो उनका नाम जप करो तो ये मत सोचना की भगवान आपकी पुकार सुनते होंगे या नहीं ? कोई संदेह मत करना। बस ह्रदय से उनको पुकारना। तुम्हे खुद लगेगा की हाँ, भगवान आपकी पुकार को सुन रहे है।

Read : भगवान हमारी इच्छा पूरी क्यों नही करते ?

Read : भगवान किसको मिलते हैं?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *