Kalyug ka Mahamantra

Kalyug ka Mahamantra 

कलियुग का महामंत्र

 

जो तुम्हें लागु ना पड़े युवान भाई बहन ….तुम सच्चे हो …तुम्हें जो चीज़ लागु ना पड़े ऐसी बात …..कोई तुम्हारी निंदा करे(Koi tumhari ninda kare), तुम्हारा कोई तेजोवध करे, तुम्हें कोई हानि पहुँचाने की तैयारी करे तो 1 महामंत्र कल मिला है ……इग्नोराय नमो नम: ……इग्नोराय नमो नम: ……इग्नोराय नमो नम: …… ignore करते जाओ।

कुत्ते भौंकते है …मैं हरि भजता रहूँगा। 3 बार मंत्र बोलना, ये कलियुग का महामंत्र(Kalyug ka Mahamantra) है।

 

कोई निंदा करे…ध्यान मत दो…. इग्नोराय नमो नम:

 

फिर कोई गाली गलौच करे(koi gali galoch kare) …. इग्नोराय नमो नम: 

 

कोई सामने से बकबक करे(Koi samne se bak bak kare) …. इग्नोराय नमो नम : 

 

तुम्हारा जीवन यज्ञ पूरा हो जायेगा …गति करो।

मोरारी बापू के शब्द
मानस सिया
जय सियाराम

अंत में एक बात कहना चाहूँगा जो मोरारी बापू अक्सर अपनी कथा में कहते हैं, राम नाम सबसे बड़ा महामंत्र है। क्योंकि राम नाम आदि अनादि है। राम के आगे श्री भी न लगाओ, केवल और केवल राम। आप राम राम जपिये काफी है बस। क्योंकि राम नाम की महिमा तो खुद भगवान राम भी नहीं गा सकते हैं।

पढ़ें :  कलयुग से बचने का उपाय 

पढ़ें : मोरारी बापू के अन्य वाक्य
पढ़ें : भक्त ध्रुव चरित्र

 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *