51 Health Tips in Hindi

51 Health Tips in Hindi

51 हेल्थ(स्वास्थ्य) के टिप्स

नमस्कार दोस्तों, आपको यहाँ पर 51 स्वास्थ्य के टिप्स दिए जा रहे हैं। इनमे से अधिकतर आप जानते भी होंगे लेकिन अगर जानते हैं तो करते क्यों नहीं हो? थोड़ा अमल में लाइए। और देखिये आपके स्वास्थ पर जरूर पॉजिटिव असर पड़ेगा 

51 स्वस्थ रहने के उपाय और नुस्खे :51 Swasth rehne ke Upay or Nuskhe

 

  1. रात को समय पर सोएं।

 

  1. सुबह समय पर उठें ।

 

  1. मैं आपको ये नहीं कहूंगा की सुबह 4 बजे उठिये। हाँ ये बात एकदम सच है की सुबह 4 बजे अमृत बेला होती है। उस समय उठने पर आपको एक अलग ही अहसास होगा। लेकिन इसके लिए आपको रात में 10 बजे तक सो जाना होगा। क्योंकि

 

  1. कम से कम 6 घंटे की नींद लेना जरुरी है।

 

  1. अगर आपकी नाईट शिफ्ट है ड्यूटी की या इवनिंग शिफ्ट है तो आपको सोते सोते 12 तो कम से कम बज जायेंगे। इसलिए आप 6 घंटे की नींद कम से कम पूरी करके उठे।

 

  1. कम से कम 6 घंटे की नींद लें और ज्यादा से ज्यादा 8 घंटे की। 8 घंटे से ज्यादा नींद न लें। क्योंकि ये शरीर आराम चाहता है। इसकी आदत मत बिगाड़ो। 6 से 8 घंटे की नींद काफी है।

 

  1. सुबह समय पर उठे तो सैर पर जाइये। इससे आपके शरीर में ताजगी का अनुभव होगा।

 

  1. 10-15 मिनट प्रतिदिन व्यायाम(exercise) या योग जरूर करें। ये आपको स्वस्थ रहने में बहुत कारगर साबित होगा। जरुरी नहीं कि इसलिए लिए आप जिम में ही जाएँ। घर पर ही आप बाबा रामदेव वाले आसान कर सकते हैं।

 

 

  1. सर्दियों में धुप जरूर सेंके। इससे विटामिन डी मिलता है। जो शरीर के लिए स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही जरुरी है।

 

 

  1. सुबह उठकर मुँह में पानी भरकर आँखों में पानी के छबके(छींटे) जरूर मारें। क्योंकि इससे आँखों की ज्योति तेज होती है। पानी साफ़ होना चाहिए।

 

 

  1. प्रतिदिन स्नान जरूर करें। अगर आपकी सेहत ठीक है तो रोज नहाना चाहिए। क्योंकि रोज नहाने से तन और मन दोनों को ताजगी मिलती है।

 

 

  1. नहाने का पानी ना तो बहुत ही ज्यादा ठंडा हो और ना ही बहुत ही ज्यादा गर्म।

 

 

  1. अपने शरीर को मसल मसल कर स्नान करना चाहिए। इससे हमारे शरीर के रोम(छिद्र) खुल जाते हैं। और किसी मोटे तौलिया से अच्छी तरह से शरीर को पोंछना चाहिए। सॉफ्ट तौलिया हम उपयोग में लाते हैं। जो कि इतना कारगर साबित नहीं होता जितना मोटा तौलिया।

 

 

  1. स्नान के बाद भगवान में विश्वास रखते है तो 2 मिनट पूजा, भक्ति करने के बाद भोजन करें। पहले भगवान को उस भोग को आप अर्पण कर दें। अगर आपको ये सब पसंद नहीं है तो आपकी मर्जी। लेकिन ये सब करने से आपको नुकसान नहीं होगा। कुछ ना कुछ फायदा ही होगा।

 

 

 

  1. भोजन कभी भी स्वाद के लिए मत खाइये। जितनी भूख हो उतना ही भोजन करें। स्वाद के चक्कर में कभी कभी परेशानी का सामना भी करना पड़ता है। इसलिए इतना ही खाइये जितना आप पचा सको।

 

 

  1. भोजन को चबा चबा कर खाएं। हम खाना चबाकर नहीं कहते हैं। जिससे हमारे दांतों का काम हमारे पेट में जो आंतें है उन्हें करना पड़ता है। अब आंतें भोजन को पचाने का काम करती है। अगर दांत छोटे छोटे टुकड़ो में भोजन को डिवाइड कर देंगे तो आँतों को आसानी होगी। इसलिए आप भोजन को चबा चबा कर कीजिये।

 

 

  1. भोजन करने के बाद अपने दांतों को अच्छे से साफ़ करें। क्योंकि दांतों के बीच में भोजन के छोटे छोटे कण चिपक जाते हैं। जो सड़न पैदा कर सकते हैं।

 

 

 

 

  1. ज्यादा तला हुआ, गला सड़ा और बांसी भोजन ना करें। क्योंकि ये आपको बीमार कर देगा। आपकी पाचन शक्ति भी कमजोर कर देगा।

 

 

  1. भोजन करने के तुरंत बाद पानी ना पिए। कम से कम 30 मिनट या आधे घंटे बाद पानी पिए। अगर बहुत ही जरुरी है तो एक दो घूंट पानी पी लें। आप इसे आदत में लेकर देखिये आपकी पाचन शक्ति मजबूत बनेगी।

 

 

 

  1. भोजन करने के बाद रात में जरूर घूमने जाएँ। और रात में थोड़ा भूख से कम ही खाना चाहिए। क्योंकि रात्रि में पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। और हमें सोना ही होता है। इसलिए थोड़ा कम खाएं और घूमकर जरूर आएं। चाहे 5 मिनट ही घूमें।

 

 

  1. पानी, दूध या जूस कोई भी तरल पदार्थ एकदम से गट-गट ना पियें। कई बार बहुत ज्यादा प्यास लगी होती है और हम फ्रीज़ से पानी की बोतल निकालकर पी लेते है। एकदम गलत बात है। थोड़ी देर इंतजार कीजिये। धीरे धीरे पानी पीजिये। फ्रीज़ से अच्छा पानी मटका(घड़े) का होता है। हो सके तो आप घर में घड़े का इस्तेमाल करें।

 

 

 

  1. दिन में ऑफिस का, घर का या जो भी आप जॉब करते हैं उसे मन लगाकर कीजिये। बोझ मानकर काम मत कीजिये। ये आपको मानसिक रूप से बीमार कर देगा।

 

 

  1. जिस बिस्तर पर आप सोते हैं। उसको कभी कभी 1-2 महीने बाद धुप में डाल दें। और फिर रात में उस बिस्तर पर सोना। ऐसा लगेगा जैसे आपके बिस्तर में जान आ गई है।

 

  1. रात को समय पर सोना चाहिए। जब नींद आये और समय हो तो सो जाना चाहिए। जबरदस्ती जागना नहीं चाहिए।

अगले पेज पर जाइये

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *