भजन और कीर्तन में अंतर(फर्क)

भजन और कीर्तन में अंतर(फर्क) Difference between Bhajan and Kirtan   एक श्रोता ने पूछा है …बापू …जय श्री कृष्ण! कीर्तन और भजन में क्या फर्क है? कीर्तन और भजन कब और कैसे करना चाहिये? सरल शब्दों में समझाइये ….   मोरारी बापू बापू बोले – भजन गुप्त रूप से होता है …कीर्तन जाहिर में […]

Continue reading


Daridrata dur karne ke Upay or unke Parkar(Types)

Daridrata dur karne ke Upay or unke Parkar(Types) दरिद्रता दूर करने के उपाय और उनके प्रकार all about impoverishment in hindi मोरारी बापू राम कथा में बता रहे हैं कि मेरे और आपके जीवन में 7 प्रकार की दरिद्रता होती है। पार्वती क्यूँ कहती है कि मैं दरिद्र हूँ? मुझे लगता है गुरू कृपा से […]

Continue reading


Sad-Guru/Buddhpurush Kaisa hone chahiye?

Sad-Guru/Buddhpurush Kaisa hone chahiye?सद्गुरु/बुद्धपुरुष कैसा होना चाहिए?    1. गुरू ऐसा करना जो मतवाला हो …चिडचिड करता हो उससे दुर्योजन …दूर योजन(दूरी बना लो)। गुरू अच्छा गाता होना चाहिये …मतवाला मतलब पीनेवाला नहीं …ज़रूर पी है लेकिन कौनसी? नाम खुमारी नानका ..चढी रहे दिन रैन।   गुरू चले तो लगे कोई मदमस्त गज चल रहा […]

Continue reading


Bhagwan/Ishwar ki aur kaise jaye?

Bhagwan/Ishwar ki aur kaise jaye? भगवान/ईश्वर की ओर कैसे जाएँ? भक्ति बढ़ाने के लिए क्या करें? हम सभी भगवान की ओर बढ़ना चाहते हैं। जो मनुष्य का एक लक्ष्य भी है। हमारे संतों के द्वारा इसी सन्दर्भ में अलग अलग मार्ग बताये गए हैं। मोरारी बापू राम कथा में भगवान शिव का एक प्रसंग बताते हुए […]

Continue reading


जीवन में महत्वपूर्ण निर्णय कैसे लें?

जीवन में महत्वपूर्ण निर्णय कैसे लें? Jivan me important decision kaise le? How to take Important Decisions in life in hindi? हमारे जीवन में कई बार हम दुविधा में फंस जाते हैं। कुछ निर्णय नहीं कर पाते हैं कि क्या करें। जब मन विचलित हो जाये तो हमें महत्वपूर्ण decision(निर्णय) कैसे लेना है, ये भारत […]

Continue reading


Bhagwan ki katha se dukh dur honge?

Bhagwan ki katha se dukh dur honge? भगवान की कथा के लाभ और फायदे   जीवन में सुख भी आयेगा, दुःख भी आयेगा.. दोनों को सहना… प्रभु की कथा हमको सिखाती है। बहुत से लोग कहते हैं कि भगवान की कथा तो केवल सपने दिखाती है…. बस बिहारी जी(भगवान) में विश्वास करो फिर कुछ भी […]

Continue reading